self reliant india

आत्मनिर्भर भारत / म. प्र. योजना में समितियों ने बढ़ाया आत्मनिर्भरता का कदम, समिति में कियोस्क सेंटर के साथ खुले इफको, कृभको के बाजार

छिंदवाड़ा – सरकार की आत्मनिर्भर भारत एवं मध्य प्रदेश योजनांतर्गत जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की 24 शाखाओं से संबद्ध 146 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियां आत्मनिर्भर बनने अपना कदम बढ़ा रही है !

आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश योजनांतर्गत शासन द्वारा सहकारी समितियों को आत्मनिर्भर बनाए जाने समितियों के मुख्यालय में सामान्य सुविधा केंद्र (कॉमन सर्विस सेंटर) खोलने के निर्देश दिए गए है !

सहकारी समितियों द्वारा संचालित इन सामान्य सुविधा केंद्र (कॉमन सर्विस सेंटर) के माध्यम से कृषकों को एमपी ऑनलाइन केंद्रों में मिलने वाली वे समस्त सुविधाएं सरलता से प्राप्त होगी जिसके लिए उन्हें लंबा सफर और समय देना पड़ता था!

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक छिंदवाड़ा की 24 शाखाओं से संबद्ध 146 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों में सामान्य सुविधा केंद्र (कॉमन सर्विस सेंटर) खोले जाने की प्रक्रिया लगातार तेजी से जारी है अब तक 138 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों ने उक्त केंद्र स्थापित कर कृषकों को अपने केंद्र से सुविधाऐं और सेवा देना भी प्रारंभ कर दिया है जबकि शेष 08 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा उक्त केंद्र खोले जाने की प्रक्रियाधीन है!


सहकारी समितियों में कियोस्क (सामान्य सुविधा केंद्र ) के स्थापित होने से जहां कृषकों को महत्वपूर्ण जानकारीयां और कार्य सम्पादन में सरलता होगी वहीं समितियां भी योजना से आत्मनिर्भर होगी!


उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग मंत्रालय भोपाल के कृषि अधोसंरचना निधि अंतर्गत जारी आदेशानुसार कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय मॉनिटरिंग समिति का गठन कर सहकारी समितियों को आत्मनिर्भर बनाने की मुहिम सतत जारी है कमेटी के अध्यक्ष (कलेक्टर ) के मार्गदर्शन में बैंक से जुड़ी सहकारी समितियां इन दिनों आत्मनिर्भरता की उड़ान भर रही है।


समितियों में इफको /कृभको की फ्रेंचाइजी – सहकारी बैंक से जुड़ी समितियां जहां एक ओर सामान्य सुविधा केंद्र संचालित करेगी वहीं सहकारी संस्था इफको और कृभको की फ्रेंचाइजी के रूप में उनके प्रोडेक्ट का विक्रय भी करेगी जिससे कृषकों को उक्त कंपनी के उत्पाद एक ही स्थान पर रियायती दर पर उपलब्ध हो सकेंगे!

समितियों के इस बहुउद्देशीय व्यवसाय से समिति आर्थिक रूप से मजबूत और आत्मनिर्भर होगी! अबतक लगभग 15 से भी अधिक प्राथमिक सहकारी समितियों ने इसकी शुरुआत कर कार्य प्रारंभ कर दिया है!


इन समितियों को मिलेगा आत्मनिर्भर भारत योजना का भी लाभ -इन समितियों को मिलेगा आत्मनिर्भर भारत योजना का भी लाभ – जिला सहकारी केंद्रीय बैंक से जुड़ी 10 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति चिचोली बढ़ में 500 मीट्रिक टन वेयर हाउस , ई मंडी , एग्री इनफार्मेशन सेंटर, समिति सौसर , छिंदीकमथ में ई मंडी , एग्री कॉमर्स सेंटर एवं 100 मीट्रिक टन का गोडाउन जबकि समिति लांघा, राजना, सिंघोड़ी, राजेगांव, पांढुरना, देलाखारी, जामसांवली में एग्री इनफार्मेशन सेंटर प्रोजेक्ट चयनित किए गए है!

“कलेक्टर एवम् बैंक प्रशासक महोदय के मार्गदर्शन में बैंक से जुड़ी शत प्रतिशत प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों को आत्मनिर्भर बनाए जाने उन्हें सामान्य सुविधा केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है जिसमें कृषकों को कृषि ऋण, विपणन एवं अन्य कृषि संबंधित जानकारी की सुविधाएं उपलब्ध होगी !

समितियों में कृषक सूचना केंद्र के साथ साथ इफको, कृभको के बाजार भी अतिशीघ्र संचालित होने जा रहे है हालांकि लगभग 15 से अधिक समितियों ने इसकी शुरुआत कर दी है”
कृष्ण कुमार सोनी
महाप्रबंधक
जिला सहकारी केंद्रीय बैंक
मर्यादित छिंदवाड़ा

यह भी पढ़ें :–

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *